NDTV-Dettol Banega Swasth Swachh India NDTV-Dettol Banega Swasth Swachh India
  • Home/
  • पर्यावरण/
  • क्लाइमेट के भले के लिए बेहतरीन तरीका है प्लांट बेस्ड डाइट लें: एक्टर दीया मिर्जा

पर्यावरण

क्लाइमेट के भले के लिए बेहतरीन तरीका है प्लांट बेस्ड डाइट लें: एक्टर दीया मिर्जा

सोशल मीडिया पर शेयर किए एक वीडियो में एक्टर दीया मिर्जा ने कहा कि पत्तेदार सब्जियां, दालें और अनाज हमें न केवल पोषण देते हैं बल्कि ये हमारी पृथ्वी के लिए भी अच्छे हैं.

Read In English
क्लाइमेट के भले के लिए बेहतरीन तरीका है प्लांट बेस्ड डाइट लें: एक्टर दीया मिर्जा
क्लाइमेट के लिए दीया मिर्जा ने 'घर के खाने' की अहमियत शेयर की

नई दिल्ली: एक्टर दीया मिर्जा धरती को बचाने और पर्यावरण के लिए सही कदम उठाने के संदेश प्रसारित करने का कोई मौका नहीं छोड़ती हैं. पर्यावरण प्रेमी दीया ने हाल में, पौधों से मिलने वाले खाद्य को अपनी डाइट में शामिल करने का प्रचार करने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम का सहारा लिया. अपने ऑफिशियल अकाउंट से एक वीडियो शेयर कर दीया ने ‘घर के खाने’ की खूबियां बताते हुए कहा कि पत्तेदार सब्जियां, दालें और अनाज न केवल हमें पोषण और बेहतर स्वास्थ्य देते हैं बल्कि हमारी धरती के लिए भी इनका सेवन अच्छी बात है. उन्होंने आगे कहा,

क्लाइमेट के लिए योगदान देने का एक बेहतरीन तरीका यही है कि आप कोई ऐसी चीज खाएं जो पौधों से मिलती हैं. मौसम और अपने क्षेत्र के हिसाब से स्थानीय फलों और सब्जियों का सेवन करें.

इस वीडियो में एक मेज पर रखे हुए घर के खाने की तस्वीरें दिखाई देती हैं. जिसके बाद वीडियो के आखिर में, दीया मिर्जा अपने दिन भर के भोजन के बारे में बात करती हैं जिसमें भिंडी, पालक, दाल, गोभी का कीमा और रोटी शामिल है.

पर्यावरण के लिए संयुक्त राष्ट्र की गुडविल एंबेसडर और यूएन के ही सस्टैनैबल डेवलपमेंट गोल (SDGs) के लिए सेक्रेटरी जनरल की एडवोकेट दीया मिर्जा ने कहा कि हम में से हर किसी के पास यह क्षमता है कि क्लाइमेट के लिए काम कर सके. वीडियो साझा करते हुए उन्होंने लिखा,

इस सप्ताह दुनिया में दैनिक तापमान का रिकॉर्ड टूट गया. इससे हम पर प्रभाव पड़ता है. हममें से हर एक पर. हममें से हर एक क्लाइमेट के लिए काम कर सकता है. व्यक्तिगत स्तर पर अपनी कोशिश से योगदान देने के कई तरीकों में से एक यह है कि आप मौसमी और स्थानीय फलों एवं सब्जियों का सेवन करें. क्लाइमेट के भले के लिए पौधों से मिलने वाले भोजन के ज्यादातर सेवन की आदत डालें. वैश्विक लक्ष्यों को हासिल करने के इस अभियान के साथ जुड़ें. बेहतर और सस्टैनैबल भविष्य बनाने में मदद करने के लिए हममें से सभी कुछ न कुछ कर सकते हैं. भारत में, हम हमेशा से जानते और समझते रहे हैं कि पौधों से मिलने वाले भोजन का लाभ क्या है. मुझे दाल, चावल, सब्जी मिल जाए तो मैं सबसे ज्यादा खुश हो जाती हूं! आपका पसंदीदा घर का खाना कौन सा है?

इसे भी पढ़ें: वन महोत्सव स्पेशल: सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा, पौधे लगाना भारत के हर नागरिक की जिम्मेदारी है 

वीडियो पर एक नजर डालिए:

जो आप कहें उस पर खुद अमल करें, यही दीया मिर्जा का मंत्र है. इससे पहले मई की शुरूआत में उन्होंने अपने बेटे अव्यान आजाद रेखी का दूसरा जन्मदिन सस्टैनैबल तरीके यानि प्लास्टिक मुक्त और जीरो वेस्ट ढंग से मनाया था. अपने सोशल मीडिया पर इस सस्टैनैबल जश्न की झलक साझा करते हुए एक्टर ने एक छोटा सा वीडियो भी साझा किया था, जिसमें उन्होंने वेस्ट फ्री ढंग से सेलिब्रेशन करने के आसान तरीकों को भी हाइलाइट किया था.

Here are some of the sustainable choices she made:

  1. प्लास्टिक के गुब्बारों के बजाए दोबारा उपयोग में लाए जा सकने वाले कागज के बने हुए कंदील या फानूस चुनें;
  2. प्लास्टिक के बर्तनों की जगह वो बर्तन इस्तेमाल करें जिन्हें आप दोबारा इस्तेमाल कर सकते हैं, जैसे बांस के स्ट्रॉ और टिशू;
  3. सजावट के लिए, उन्होंने मेज के कपड़े, अव्यान के पुराने खिलौने और कपड़े से बने हुए झंडों का चयन किया;
  4. गेम्स कॉर्नर के लिए, इस सेलिब्रेशन में आर्गेनिक क्रैयॉन और मिट्टी के बर्तन थे;
  5. रिटर्न गिफ्ट ऑर्गेनिक प्राकृतिक फैब्रिक के बैग्स में पैक की गई थीं; बच्चों के नाम पर पौधारोपण किया गया था; लगेज टैग्स भी अपसाइकिल्ड थे;
  6. कचरे के लिए कॉर्नर पर गीले और सूखे कचरे को अलग-अलग बांटकर फेंके जाने का इंतजाम था.

वीडियो का कैप्शन उन्होंने ऐसे लिखा था,

जीरो वेस्ट, जीरो प्लास्टिक बर्थडे. क्योंकि जो हमारे बच्चों के लिए अच्छा है वही हमारी धरती के लिए भी अच्छा है.

इसे भी पढ़ें: दिल्ली की ‘ग्रीन टीम’ लोगों को पर्यावरण के प्रति कर रही जागरूक

Highlights: Banega Swasth India Launches Season 10

Reckitt’s Commitment To A Better Future

India’s Unsung Heroes

Women’s Health

हिंदी में पढ़ें

This website follows the DNPA Code of Ethics

© Copyright NDTV Convergence Limited 2024. All rights reserved.