Connect with us

ताज़ातरीन ख़बरें

COVID-19: सरकार ने दिए ओमि‍क्रोम वेरिएंट से जुड़े सवालों के जवाब

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने नए कोविड-19 संस्करण Omicron पर कुछ अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों का उत्तर दिया है.

Read In English
COVID-19: सरकार ने दिए ओमि‍क्रोम वेरिएंट से जुड़े सवालों के जवाब
ओमिक्रोम, कोवि‍ड-19 का नया वेरिएंट, पहली बार दक्षिण अफ्रीका में पाया गया था
Highlights
  • WHO ने 26 नवंबर को ओमाइक्रोन को 'वेरिएंट ऑफ कंसर्न' के रूप में वर्गीकृत किय
  • ओमाइक्रोन ने बहुत बड़ी संख्या में म्यूटेशन दिखाए हैं: केंद्र
  • लोगों को टीके की दोनों खुराक लेनी चाहिए: केंद्र

24 नवंबर को, दक्षिण अफ्रीका के शोधकर्ताओं द्वारा कोरोनवायरस B.1.1.529 के एक नए वेरिएंट को ओमिक्रॉन वेरिएंट को रिपोर्ट किया गया. केवल दो दिन बाद, 26 नवंबर को बेहद संक्रामक माना गया. इसे विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा ‘वेरिएंट ऑफ कंसर्न’ यानी ‘चिंता का वेरिएंट’ (VoC) के तौर पर नामित किया गया. स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय (MoHFW) के अनुसार, भारत में भी ओमिक्राम (Omicron) प्रकार के कुछ मामलों का पता चला है. नए वेरिएंट के मद्देनजर, लोगों में यह अलार्म और तीसरी लहर का डर पैदा कर रहा है, यहां कुछ अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों के उत्तर MoFHW द्वारा दिए गए हैं:

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि दक्षिण अफ्रीका के बाहर के देशों से ओमाइक्रोन के मामले तेजी से सामने आ रहे हैं और इसकी विशेषताओं को देखते हुए इसके भारत सहित और देशों में फैलने की संभावना है.

हालांकि, मामलों में बढ़ोतरी का पैमाना और परिमाण और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इससे होने वाली बीमारी की गंभीरता अभी भी स्पष्ट नहीं है, MoHFW ने कहा.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने आगे कहा कि भारत में टीकाकरण की तेज गति और डेल्टा वैरिएंट के उच्च जोखिम को देखते हुए, जैसा कि उच्च सेरोपोसिटिविटी से पता चलता है, बीमारी की गंभीरता कम होने का अनुमान है. हालांकि, वैज्ञानिक साक्ष्य अभी भी विकसित हो रहे हैं.

इसे भी पढ़ें: Omicron Cases In India: अब तक 21 मामले, हम इसे कैसे रोकेंगे

क्या मौजूदा टीके ओमाइक्रोन के खिलाफ काम करेंगे?

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि मौजूदा टीके ओमाइक्रोन पर काम नहीं करते हैं, स्पाइक जीन पर रिपोर्ट किए गए कुछ म्यूटेशन मौजूदा टीकों की प्रभावकारिता को कम कर सकते हैं.

हालांकि, टीका एंटीबॉडी के साथ-साथ सेलुलर प्रतिरक्षा द्वारा भी सुरक्षा देता है, जिसके अपेक्षाकृत बेहतर संरक्षित होने की उम्मीद है. इसलिए टीकों से अभी भी गंभीर बीमारी से सुरक्षा प्रदान करने की उम्मीद है, और अगर आप टीका लेने के पात्र हैं, तो मौजूदा टीकों के साथ टीकाकरण जरूरी है और आपको अपना टीकाकरण पूरा करवाना चाहिए

हमें ओमाइक्रोन के बारे में कितना चिंतित होना चाहिए?

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि यह उजागर करना अहम है कि ओमाइक्रोन में देखे गए म्यूटेशन, उनके बढ़े हुए संचरण और इम्यून एविएशप की अनुमानित विशेषताओं और कोविड-19 महामारी विज्ञान में हानिकारक परिवर्तन के प्रारंभिक साक्ष्य के आधार पर VoC घोषित किया गया है, जैसे कि बढ़े हुए पुनर्संक्रमण.

साथ ही कहा है कि बढ़े हुए ट्रांसमिशन और इम्यून एवेशन के बारे में जानकारी जुटानी है.

इसे भी पढ़ें: Omicron In India And Air Travel: जानें नई ट्रेवल गाइडलाइन्स

स्वास्थ्य मंत्रालय ने किन सावधानियों की सिफारिश की है?

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि मास्क का सही ठंग से इस्तेमाल करना जरूर है, अगर अभी तक टीका नहीं लगाया गया है तो टीकों की दोनों खुराक लें, सामाजिक दूरी बनाए रखें और अधिकतम संभव अच्छा वेंटिलेशन बनाए रखें.

क्या मौजूदा डाइग्नोसिस मेथड ओमाइक्रोन का पता लगाने में सक्षम हैं?
स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, आरटी-पीसीआर परीक्षण वायरस की उपस्थिति की पुष्टि करने के लिए स्पाइक (एस), एनवलप्ड (ई), और न्यूक्लियोकैप्सिड (एन) जैसे विशिष्ट जीन का पता लगाते हैं.

हालांकि, ओमाइक्रोन के मामले में, एस जीन भारी रूप से म्यूटेट होता है, इसलिए कुछ प्राइमरों से S जीन की अनुपस्थिति का संकेत मिलता है (जिसे एस जीन ड्रॉप आउट कहा जाता है).

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि इस विशेष S जीन ड्रॉप आउट के साथ-साथ अन्य वायरल जीन का पता लगाने के लिए ओमाइक्रोन की डाइग्नो‍सिस फिचर के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है.

हालांकि, ओमाइक्रोन संस्करण की अंतिम पुष्टि के लिए जीनोमिक सिक्वेंसिंग की जरूरत है, MoHFW ने कहा.

इसे भी पढ़ें: असम में मतदान केंद्र बने वैक्‍सीनेशन सेंटर, चुनाव आयोग ने टीकाकरण अभियान में छूटे लोगों की पहचान में की मदद

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Folk Music For A Swasth India

RajasthanDay” src=

Reckitt’s Commitment To A Better Future

Expert Blog

हिंदी में पड़े

Latest Posts