Connect with us

पोषण माह

हेल्‍थ एंड न्‍यूट्रीशन: क्या बाजरा आपके लिए फायदेमंद है?

विशेषज्ञों और शोधकर्ता बाजरे को सुपरफूड मानते हैं, यहां इसके न्यूट्रीशनल वैल्‍यू के बारे में बताया गया है

Read In English
हेल्‍थ एंड न्‍यूट्रीशन: क्या बाजरा आपके लिए फायदेमंद है?
सुपरफूड बाजरे के बारे में पोषण से जुड़े फैक्‍ट पर एक नजर

नई दिल्ली: बाजरा – एक अनाज है जो ग्रास फैमिली से जुड़ा हुआ है और यह प्रोटीन, फाइबर, विटामिन और खनिजों का भंडार होता है. इसे अक्सर इसके पोषण मूल्य के कारण ‘सुपरफूड’ के रूप में जाना जाता है. सबसे अच्छी बात यह है कि इस अनाज का इस्‍तेमाल हर चीज में किया जा सकता है – सलाद से लेकर मेन्स कोर्स तक, इसे सब में प्रयोग किया जाता है. बाजरा कई तरह का होता है, जिनमें शामिल हैं:

  • ज्वार (सोरघम)
  • रागी (फिंगर बाजरा)
  • कोर्रा (फॉक्सटेल बाजरा)
  • अर्क (कोडो बाजरा)
  • समा (छोटा बाजरा)
  • बाजरा (मोती बाजरा)
  • छेना/बार (प्रोसो बाजरा)
  • सानवा (बार्नयार्ड बाजरा)

इसे भारत की प्राचीन देशी फसल के रूप माना जाता है, बाजरा दुनिया में सबसे पुराने खेती वाले अनाजों में से एक है. यह पूरे अफ्रीका और दक्षिण पूर्व एशिया में हजारों सालों से बढ़ रहा है. भारत में कृषि मंत्रालय के अनुसार, बाजरा पारंपरिक अनाज है, जो पिछले 5000 वर्षों से भारतीय उपमहाद्वीप में उगाया और खाया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें: महामारी से सीख: मिलिए मध्य प्रदेश की कृष्णा मवासी से, जिनके किचन गार्डन ने उनके गांव को भुखमरी से बचाया

इंशनल क्रॉप्स रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ द सेमी-एरिड ट्रॉपिक्स (ICRISAT) के शोधकर्ताओं के अनुसार, अगर चावल को तीन महीने से साढ़े चार साल की अवधि के लिए भोजन में बाजरे से बदल दिया जाए, तो यह बच्चों और किशोरों में 26 प्रतिशत से 39 प्रतिशत तक ग्रोथ कर सकता है.

जानिए बाजरे के फायदों के बारे में

1. पोषक तत्व जो बाजरे को सुपरफूड बनाते हैं

भारतीय बाजरा अनुसंधान संस्थान (आईआईएमआर) के अनुसार, बाजरा अन्य अनाजों की तुलना में पौष्टिक रूप से काफी बेहतर होता है, इसमें हाई मात्रा में प्रोटीन, आवश्यक अमीनो एसिड, खनिज और विटामिन होते हैं. IIMR बताता है कि बाजरे में ये सब शामिल होता हैं:

  • 7-12 फीसदी प्रोटीन
  • 2-5 प्रतिशत फैट
  • 65-75 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट
  • 15-20 प्रतिशत डाइट्री फाइबर
  • बाजरा (रागी) कैल्शियम का सबसे समृद्ध स्रोत है, इसमें लगभग 300-350 mg/100 g . होता है

IIMR यह भी कहता है कि बाजरा आयरन, जिंक, कैल्शियम और अन्य पोषक तत्वों का भी एक प्राकृतिक स्रोत है जो भारत में अत्यधिक प्रचलित कुपोषण की समस्या को रोकने के लिए आवश्यक है.

इसे भी पढ़ें: कोविड-19 के बीच एएनएम, आंगनवाड़ी और आशा कार्यकर्ता ने बखूबी निभाई अपनी जिम्मेदारी

2.  बाजरा खाने से पाचन तंत्र में सुधार होता है

भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (FSSAI) के अनुसार, बाजरा में हाई अमाउंट में डाइटरी फाइबर होता है इसलिए यह अक्सर “प्रीबायोटिक” के रूप में कामकरता है, जिसका मतलब ये हुआ कि यह आपके पाचन तंत्र में अच्छे बैक्टीरिया को सपोर्ट करता है. FSSAI यह भी बताता है कि डाइटरी फाइबर भी ग्रोथ को रेगुलर रखने के लिए अहम है और यह पेट के कैंसर के जोखिम को भी कम करता है.

3. बाजरा आपकी स्किन के लिए भी है फायदेमंद

IIMR के अनुसार, पोषक गुणों के अलावा, बाजरे में नियासिन की मात्रा अधिक होती है, जो शरीर को 400 से अधिक एंजाइम प्रतिक्रियाओं को कंट्रोल करने में मदद करता है. हेल्‍दी स्किन और अंगों के कार्य के लिए भी नियासिन बहुत जरूरी है.

4. बाजरा बीमारियों से लड़ने में मदद करता है

भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण कहता हैं कि बाजरा दिल के रोगों को कम करने में मदद कर सकता है क्योंकि बाजरे का सेवन ट्राइग्लिसराइड्स और सी को कम करता है. बाजरा टाइप 2 डायबिटीज को रोकने और ब्‍लड शुगर को कम करने में भी फायदेमंद है.

5. बाजरा रक्त शर्करा को कंट्रोल करता है

IIMR का कहना है कि बाजरे में धीमी गति से निकलने वाला ग्लूकोज होता है और यह ग्लाइसेमिक इंडेक्स में कम होता है. विशेषज्ञों के अनुसार, यह डायबिटीज की वैश्विक समस्या से लड़ने का एक बहुत ही महत्वपूर्ण कारक है. आईआईएमआर यह भी कहता है कि यह माना गया है कि मुख्य भोजन के रूप में बाजरा अनाज का उपयोग करने वाली आबादी में डायबिटीज मेलिटस और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट संबंधी बीमारियां कम होती हैं.

इसे भी पढ़ें: एक्सपर्ट ब्लॉग: फूड सिस्टम में ये 8 सुधार, जनजातीय आबादी को दिला सकते हैं भरपूर पोषण

6. बाजरा आपके हार्ट को प्रोटेक्‍ट करता है

IIMR के अनुसार, बाजरे में मौजूद फाइबर ब्‍लड में “खराब” कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करने में मदद करता है. दूसरा, फाइबर कोलेस्ट्रॉल को अवशोषित करने में मदद करता है, जिससे यह आपके सिस्टम से सुरक्षित रूप से बाहर निकल जाता है. कुछ अध्ययनों से पता चला है कि नियमित रूप से बाजरे का सेवन आपके “अच्छे” कोलेस्ट्रॉल के लेवल को बढ़ा और ट्राइग्लिसराइड्स को कम कर सकता है.

अब, क्योंकि कोलेस्ट्रॉल हृदय रोग के लिए एक बड़ा जोखिम है, बाजरा खाने से अप्रत्यक्ष रूप से आपके हार्ट को सेफ रखने में मदद मिल सकती है.

7. बाजरा भी ग्रह के लिए अच्छा है

इंटरनेशनल क्रॉप्स रिसर्च इंस्टीट्यूट फॉर सेमी- एरिड ट्रॉपिक्‍स का कहना है कि फसल के इन सभी हेल्‍थ बेनिफिट्स के अलावा, बाजरे को ‘स्मार्ट फसल’ के रूप में भी जाना गया है. क्योंकि इसकी रखरखाव कम है, रोग, कीट प्रतिरोध और पारिस्थितिक लाभ जैसे इसके अन्‍य फायदे हैं, इसमें यह भी कहा गया है कि बाजरे को C4 फसलों के रूप में जाना जाता है क्योंकि ये कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित करने और उपयोग करने में दक्ष होता है. इसमें यह भी कहा गया है कि बाजरे की अधिकांश किस्में अपनी हार्डनेस के लिए प्रसिद्ध हैं और लंबे समय तक यह सूखे, हाई टेंपरेचर को झेल सकते हैं और अनाज और चारे का प्रोडक्‍शन कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें: विचार: परिवार नियोजन तथा यौन और प्रजनन स्वास्थ्य सेवाओं में पोषण कार्यक्रम को शामिल करें

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Highlights Of The 12-Hour Telethon

Reckitt’s Commitment To A Better Future

India’s Unsung Heroes

Women’s Health

हिंदी में पड़े

Folk Music For A Swasth India

RajasthanDay” src=