NDTV-Dettol Banega Swasth Swachh India NDTV-Dettol Banega Swasth Swachh India

बेहतर भविष्य के लिए रेकिट की प्रतिबद्धता

ड्यूरेक्स ‘द बर्ड्स एंड बीज़ टॉक’ की 23 वें हॉर्नबिल फेस्टिवल 2022 के साथ साझेदारी

ड्यूरेक्स ‘द बर्ड्स एंड बीज टॉक’ (टीबीबीटी) ने हॉर्नबिल फेस्टिवल में इनोवेटिव गेमिंग और वर्चुअल रियलिटी एक्सपीरियंस के ज़रिए जागरूकता बढ़ाई. गेम ने टीबीबीटी के प्रोटेक्शन, अवेयरनेस, कंसेंट, इंक्लूजन और इक्विटी के सिद्धांतों को शामिल किया था

Read In English
ड्यूरेक्स 'द बर्ड्स एंड बीज़ टॉक' की 23 वें हॉर्नबिल फेस्टिवल 2022 के साथ साझेदारी
भारत जी-20 को हॉर्नबिल फेस्टिवल दिखाने की योजना बना रहा है, इसलिए यह दस दिवसीय 'फेस्टिवल ऑफ फेस्टिवल' बेहद अहम है

नई दिल्ली: लोक नृत्यों से लेकर मधुर गीतों तक, नागालैंड अपने प्रतिष्ठित हॉर्नबिल फेस्टिवल 2022 के साथ वापस आ गया है. यह फेस्टिवल 1 दिसंबर को शुरू हुआ और 10 दिसंबर तक नागा हेरिटेज विलेज किसामा, कोहिमा में जारी रहेगा. यह फेस्टिवल आगंतुकों को संपूर्ण नागा संस्कृति से रूबरू कराता है, जो पूरी भव्यता के साथ प्रदर्शित किया जाता है. हालांकि, इस साल के फेस्टिवल-हेल्थ से जुड़े हुए हैं. वहीं ड्यूरेक्स, अपनी युवा और किशोर-केंद्रित पहल के साथ, द बर्ड्स एंड बीज़ टॉक (टीबीबीटी) कार्यक्रम प्रतिष्ठित फेस्टिवल के 23वें संस्करण में सहायता कर रहा है.

स्पिरिट्स, फर्टिलिटी, सोशल बॉन्डिंग और प्यूरिफिकेशन प्रमुख तत्व हैं जो नागा फेस्टिवल को प्रमुख बनाते हैं – जिस प्रथा का हरेक ट्राइब पालन करता है और फेस्टिवल को ट्रांसलेट करता है.

दस दिवसीय ‘फेस्टिवल ऑफ फेस्टिवल’ बहुत महत्व रखता है क्योंकि भारत जी -20 में हॉर्नबिल फेस्टिवल का प्रदर्शन करने की योजना बना रहा है. यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भारत की समृद्ध विरासत और संस्कृति को प्रदर्शित करने की सिफारिश करने पर प्रकाश डालता है जो अर्बन शहरों के अलावा देश के ग्रामीण हिस्सों में स्थित है.

इसे भी पढ़ें: डॉ. तनाया नरेंद्र ने एचआईवी/एड्स को रोकने के लिए कॉन्डम यूज करने की सलाह दी

हॉर्नबिल फेस्टिवल 2022 का उद्घाटन

फेस्टिवल के पहले दिन (1 दिसंबर) के लिए मुख्य अतिथि उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, नागालैंड के राज्यपाल जगदीश मुखी, नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफियू राव और पर्यटन, कला और संस्कृति के सलाहकार एच खेहोवी येपुथोमी थे. भारत में फ्रांस के राजदूत इमैनुएल लेनिन, दक्षिण एशिया के लिए महामहिम के व्यापार आयुक्त और पश्चिमी भारत के लिए ब्रिटिश उप उच्चायुक्त एलन जेमेल और भारत में ऑस्ट्रेलियाई उच्चायुक्त बैरी ओ फैरेल भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए.

“नागालैंड के लोगों ने ‘द बर्ड्स एंड बीज टॉक’ की पहल को सफल बनाया”: रवि भटनागर

रेकिट, एसओए, एक्सटर्नल अफेयर्स एंड पार्टनरशिप, डायरेक्टर रवि भटनागर फेस्टिवल के दूसरे दिन (2 दिसंबर) के मुख्य अतिथि और मुख्य वक्ता थे. उन्होंने कहा कि नागालैंड ने भेदभाव को दूर करने और एचआईवी/एड्स से संबंधित स्टिग्मा को खत्म करने की अपनी पहल को आगे बढ़ाया है, जो हाशिये पर रहने वाले लोगों को भुगतना पड़ता है. उन्होंने द बर्ड्स एंड बीज़ टॉक (टीबीबीटी) पहल के लिए नागरिकों के समर्थन की भी सराहना की.

पहल के लिए नागालैंड के लोगों का समर्थन सेक्सुअल डाइवर्सिटी और स्वीकृति की गहरी समझ को दर्शाता है.

टीबीबीटी ने फेस्टिव में इनोवेटिव गेमिंग और वर्चुअल रियलिटी एक्सपीरियंस के ज़रिए जागरूकता बढ़ाई. गेम ने टीबीबीटी के प्रोटेक्शन, अवेयरनेस, कंसेंट, इंक्लूजन और इक्विटी के सिद्धांतों को शामिल किया था.

एग्जीबिशन का उद्घाटन स्कूल शिक्षा के प्रधान निदेशक, एनईसीटीओआर के परियोजना निदेशक और नागालैंड सरकार के राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण के सीईओ थवसीलन के ने किया. कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय जोत्सोमा के विद्यार्थी थे.

इसे भी पढ़ें: “एचआईवी/एड्स के बारे में जागरूकता ने इसके आसपास के कलंक को कम किया है”: मोना बलानी, एचआईवी/टीबी कार्यकर्ता

“पूर्वोत्तर रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण क्षेत्र है”: रेकिट, दक्षिण एशिया के वरिष्ठ उपाध्यक्ष गौरव जैन

रेकिट के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (दक्षिण एशिया) गौरव जैन ने कहा कि पूर्वोत्तर क्षेत्र देश के स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण बदलाव लाने के लिए एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है. उन्होंने आगे कहा,

रेकिट का उद्देश्य एक स्वच्छ और स्वस्थ दुनिया बनाने के अथक प्रयास में रक्षा, उपचार और पोषण करना है. रेकिट की आर्थिक और सामाजिक प्रभाव पहल संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) में से 13 में योगदान देती है ताकि भारत में लोगों को स्वस्थ और अधिक स्वच्छ जीवन जीने में मदद मिल सके. प्रतिष्ठित हॉर्नबिल फेस्टिवल के साथ हमारा सहयोग यह सुनिश्चित करने का हमारा तरीका है कि वन हेल्थ, वन प्लैनेट, वन फ्यूचर की हमारी दृष्टि को पूर्वोत्तर के युवा वयस्कों और युवाओं द्वारा आगे बढ़ाया जाए.

“द बर्ड्स एंड बीज़ टॉक एक जागरूक युवा को बढ़ा रही है”: नागालैंड सरकार में उच्च शिक्षा और जनजातीय मामलों के मंत्री तेमजिन इमाम अलॉन्ग

अलॉन्ग ने कहा कि द बर्ड्स एंड बीज़ टॉक (टीबीबीटी) पहल पूर्वोत्तर क्षेत्रों में जागरूक बनाने और जागरूक युवाओं को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है. उन्होंने कहा कि नागालैंड को टीबीबीटी के साथ स्वास्थ्य भागीदार के रूप में फेस्टिवल के अपने 23 वें संस्करण की मेजबानी करने पर गर्व है.

हम साथ मिलकर नागालैंड के युवाओं के भविष्य को स्वस्थ और खुशहाल बनाकर उनके लिए मजबूती से खड़े हैं.

इसे भी पढ़ें: मिलिए ‘अप्पा’ से, जो चेन्नई में एचआईवी पॉज़िटिव बच्चों के लिए शेल्टर चलाते हैं

“द बर्ड्स एंड बीज़ टॉक क्रिटिकल लाइफ बदलने वाली स्किल को इम्प्लिमेंट कर रहा है”: नागालैंड सरकार में स्कूल शिक्षा के प्रधान निदेशक और परियोजना निदेशक थवसीलन के.

स्कूल शिक्षा के प्रधान निदेशक, एनईसीटीओआर के परियोजना निदेशक और नागालैंड सरकार के राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण के सीईओ थवसीलन के ने कहा कि टीबीबीटी पहल ने नागालैंड के किशोरों को महत्वपूर्ण जीवन बदलने वाले कौशल प्रशिक्षण और जागरूकता प्रदान की.

कार्यक्रम हमेशा युवाओं और समुदाय के साथ जुड़ने के लिए इनोवेटिव और मजेदार तरीकों का परिचय देता है. उन्होंने कहा कि उद्देश्यपूर्ण स्वास्थ्य भागीदार के रूप में हॉर्नबिल के साथ साझेदारी सही ज्ञान और जानकारी फैलाने का एक शानदार तरीका है.

“टीबीबीटी विविधता में एकता विजन का पालन करता है”: नागालैंड के पर्यटन विभाग निदेशक केडुओसिउ मेथा.

मेथा ने कहा कि हॉर्नबिल फेस्टिवल का उद्देश्य देश में विविधता में एकता का संदेश फैलाना था, और द बर्ड्स एंड बीज़ टॉक (टीबीबीटी) ने इस संदेश का पालन कर पूरे क्षेत्र के लोगों को एक साथ लाया.

टीबीबीटी किशोरों के बीच सहमति, इक्विटी, प्रोटेक्शन, इंक्लूजन, और अवेयरनेस जैसे मुख्य मूल्यों के बारे में बात करता है. और इस साल, टीबीबीटी एक उद्देश्य भागीदार के रूप में शानदार फेस्टिवल का हिस्सा होना एक आवश्यक हस्तक्षेप है.

इसके अलावा, प्लान इंडिया के कार्यकारी निदेशक आसिफ मोहम्मद, ने कार्यक्रम का समर्थन करने और इसे तेजी से बढ़ने में मदद करने के लिए नागालैंड के पर्यटन विभाग का आभार व्यक्त किया. उन्होंने कहा कि,

सिस्टम से लगातार मिल रहे इनपुट ने हमारे प्रयासों का स्वागत किया और इसे बढ़ावा दिया और हमें बेहतर प्रदर्शन करने और लाखों युवाओं के जीवन को उनके समग्र विकास के लिए प्रभावित करने के लिए प्रेरित किया.

हॉर्नबिल फेस्टिवल नागालैंड की विभिन्न जनजातियों की समृद्ध संस्कृति का प्रतिनिधित्व करने वाले राज्यों और देशों के मेहमानों की मेजबानी करेगा, और द बर्ड्स एंड बीज़ टॉक के साथ एक स्वास्थ्य भागीदार के रूप में, साझेदारी नागालैंड के लोगों तक पहुंचेगी, यह सुनिश्चित करते हुए कि हम भारत के युवाओं और भविष्य को स्वस्थ और खुशहाल बनाएं.

बर्ड्स एंड बीज़ टॉक पहल के बारे में

रेकिट के नेतृत्व में और प्लान इंडिया द्वारा कार्यान्वित कार्यक्रम, किशोरों के विकास और जीवन कौशल की दिशा में काम करता है. रेकिट ने जून 2019 में युवाओं को यौन स्वास्थ्य, यौन जोखिम व्यवहार, लैंगिक समानता और विविधता के बारे में सशक्त बनाने और शिक्षित करने के लक्ष्य के साथ पहल की घोषणा की. इस पहल ने छह उत्तर पूर्वी राज्यों – अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड और सिक्किम में चार मिलियन युवाओं को लक्षित किया. राज्य सरकारों के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर भी हस्ताक्षर किए गए.

इसे भी पढ़ें: हॉर्नबिल फेस्टिवल में ड्यूरेक्स द बर्ड्स एंड बीज़ टॉक प्रोग्राम स्वास्थ्य को लेकर करेगा जागरूक

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Highlights: Banega Swasth India Launches Season 10

Reckitt’s Commitment To A Better Future

India’s Unsung Heroes

Women’s Health

हिंदी में पढ़ें

This website follows the DNPA Code of Ethics

© Copyright NDTV Convergence Limited 2024. All rights reserved.