Connect with us

कोरोनावायरस अपडेट

81 फीसदी कोविड सेंपल्स में ओमिक्रोन वेरिएंट मिला: दिल्ली स्वास्थ्य मंत्री

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हालांकि दिल्ली में ओमिक्रोन के मामलों में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है, लेकिन फिर भी हालात अंडर कंट्रोल ही बने हुए हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि ज्यादातर मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं पड़ रही.

Read In English
Omicron Variant Found In 81 Per Cent Of COVID Samples: Delhi Health Minister
भारत में ओमि‍क्रोम के 1,700 केस सामने आए हैं, जिनमें से 351 दिल्ली में हैं
Highlights
  • दिल्ली में दैनिक कोविड-19 केस लोड 4,000 तक चढ़ गया है: स्वास्थ्य मंत्री
  • पॉजिटिविटी रेशो बढ़कर 6.5 फीसदी हुई: मंत्री सत्येंद्र जैन
  • अभी तक दिल्ली में ओमिक्रोन मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत नहीं पड़ी: जैन

नई दिल्ली: “नई जि‍नोम सिक्वेंसिंग रिपोर्ट के मुताबिक, जि‍नोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे गए 187 कोविड नमूनों में से, 152 ने ओमिक्रोन वेरिएंट के लिए सकारात्मक परीक्षण किया. इसका मतलब है कि 81 फीसदी मामले ओमिक्रोन के थे, तकरीबन 8.5 फीसदी डेल्टा वेरिएंट के थे और बाकी मामलों में दूसरे वेरिएंट थे. साफ तौर पर ओमिक्रोन वेरिएंट फिलहाल प्रमुख है”, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने सोमवार (3 जनवरी) को दिल्ली विधानसभा में कहा. जि‍नोम सिक्वेंसिंग रिपोर्ट के साथ स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि दिल्ली में अभी तक किसी भी ओमिक्रोन रोगी को ऑक्सीजन की जरूरत नहीं है.

इसे भी पढ़ें: ओमिक्रोन को डेल्टा से ज्यादा खतरनाक करार देना अभी जल्दबाजी, त्योहारों में सतर्क रहें: विश्व स्वास्थ्य संगठन

2 जनवरी, 2022 के स्वास्थ्य बुलेटिन डाटा साझा करते हुए जैन ने कहा कि दिल्ली में कोविड-19 मामलों में बढोतरी दर्ज की जा रही है, लेकिन हालात नियंत्रण में है क्योंकि बहुत से लोगों को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं है.

कल सकारात्मकता दर 4.59 फीसदी के साथ 3,194 मामले और एक मौत दर्ज की गई. लेकिन, 9,024 बिस्तरों की उपलब्धता के मुकाबले स‍िर्फ 307 अस्पताल के बिस्तरों पर मरीज भर्ती हैं.

इसे भी पढ़ें: COVID-19: सरकार ने दिए ओमि‍क्रोम वेरिएंट से जुड़े सवालों के जवाब

2 जनवरी के ताजा स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, अस्पताल में 307 रोगियों के साथ दिल्ली में 8,300 से ज्यादा COVID मामले सक्रिय हैं. जैन के अनुसार, पिछले साल, डेल्टा लहर के दौरान तकरीबन 1,500 कोविड पॉजिटिव रोगियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जब दिल्ली में इतने ही सक्रिय मामले सामने आए थे.

आज (3 जनवरी) का स्वास्थ्य बुलेटिन जल्दी ही जारी किया जाएगा. जैन ने कहा कि 6 फीसदी से ज्यादा की सकारात्मकता दर वाले लगभग 4,000 मामले सामने आए हैं.

इसे भी पढ़ें: ओमिक्रॉन खतरा: एम्स प्रमुख ने दी चेतावनी, कहा- हाल तरह के हालात के लिए तैयार रहें

तकरीबन दो सालों के कोव‍िड-19 से लड़ने के अनुभव को याद कर स्वास्थ्य मंत्री ने सार्वजनिक क्षेत्र में हर समय फेस मास्क पहनने पर जोर दिया. उन्होंने कहा,

घबराने से मदद नहीं मिलेगी. घबराहट के कारण, जिन रोगियों को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं होती है, वे भी अस्पताल जाते हैं और भर्ती हो जाते हैं. हमें सावधान रहने की जरूरत है.

दिल्ली विधानसभा में एक सवाल का उत्तर देते हुए जैन ने बताया कि सरकारी अस्पतालों और क्लीनिकों में चिकित्सा कर्मचारियों की कोई कमी नहीं थी, जब राष्ट्रीय राजधानी में पिछले कुछ दिनों में कोरोनोवायरस के मामलों में बढोतरी देखी जा रही है.

राष्ट्रीय स्तर पर भारत का ओमिक्रोन टैली 1,700 मामलों तक पहुंच गया है, जिसमें महाराष्ट्र और दिल्ली चार्ट में शीर्ष पर हैं. जहां महाराष्ट्र में ओमिक्रोन के 510 मामले सामने आए हैं, वहीं दिल्ली में 351 मामले सामने आए हैं.

इसे भी पढ़ें: कोविड-19 ओमिक्रोन वेरिएंट: जानें क्या कहते हैं WHO के एक्सपर्ट

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Highlights From The 12-Hour Telethon

Leaving No One Behind

Mental Health

Environment

Join Us