Connect with us

ताज़ातरीन ख़बरें

Opinion: कोविड-19 के खिलाफ अपनी प्रतिरोधक क्षमता को करें मजबूत, मनाएं हेल्दी नया साल 2022

अंतरा के सलाहकार चिकित्सक डॉ शबनम मीर कहते हैं कि एक मजबूत प्रतिरक्षा यानी इम्यूनिटी वायरस से बेहतर तरीके से निपटने की संभावनाओं को काफी बढ़ा सकती है

Read In English
Opinion: कोविड-19 के खिलाफ अपनी प्रतिरोधक क्षमता को करें मजबूत, मनाएं हेल्दी नया साल 2022
फिजिशियन डॉ. शबनम मीर के अनुसार नए साल 2022 की शुरुआत, म्यूटेट‍िड कोरोनावायरस से बचने और लड़ने के लिए बेहतर इम्यूनिटी की जरूरत है

नई दिल्ली: नया साल आ चुका है. हम सभी 2022 के साथ महामारी के तीसरे साल में कदम रख रहे हैं. हम मानते हैं कि लगातार म्यूटेट होते कोरोनावायरस के साथ आने वाली अनिश्चितताओं के लिए बेहतर तरीके से तैयार रहने की जरूरत है. यह अधिक संवेदनशील जनसांख्यिकी (susceptible demographics) जैसे देश में वरिष्ठ नागरिक आबादी के लिए बड़ा महत्व रखता है. एक स्वस्थ शरीर और मजबूत प्रतिरक्षा वायरस से बेहतर तरीके से निपटने की संभावना को काफी बढ़ा सकती है. जैसा कि देश ओमि‍क्रोन के बढ़ते मामलों से जूझ रहा है, कोरोनावायरस का नया वेरिएंट और तीसरी कोविड-19 लहर का खतरा लोगों पर मंडरा रहा है, इस नए साल में अपने स्वास्थ्य पर ध्यान केंद्रित करने और इस दौरान अपने शरीर को मजबूत करने के एक नए मौके के रूप में लें.

इसे भी पढ़ें: ओमिक्रोन को डेल्टा से ज्यादा खतरनाक करार देना अभी जल्दबाजी, त्योहारों में सतर्क रहें: विश्व स्वास्थ्य संगठन

यहां कुछ चीजें हैं जो इस साल आप अपनी प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने के लिए कर सकते हैं:

पूर्ण टीकाकरण जरूरी है

सबसे पहली बात यह ध्यान में रखने की जरूरत है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि कोविड-19 वैक्सीन की दोनों खुराक ली गई हों. सुनिश्चित करें कि आपके आस-पास के लोगों को भी टीका लगाया गया है और जो ‘एहतियाती खुराक’ (Precautionary Dose) के लिए पात्र हैं, वे खुद को पंजीकृत करें और समय पर जरूरी जाब लें. भारत ने एक बड़ी आबादी को टीका लगाने की एक विकट चुनौती का सामना करने के बावजूद वैक्सीन विकास के माध्यम से महामारी के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में उल्लेखनीय नेतृत्व का प्रदर्शन किया है. एक स्पष्ट वैक्सीन रोड मैप के साथ देश लगातार और लगातार आगे बढ़ रहा है. यह सुनिश्चित करना अहम है कि आपने अपने शरीर को एंटीबॉडी विकसित करने और अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने का मौका देने के लिए निर्धारित प्रारूप में टीके लगाए हैं.

प्रतिरक्षा के निर्माण के लिए लें स्वस्थ आहार

चल रही महामारी के दौरान स्वस्थ भोजन करना बहुत अहम हो जाता है. इस साल इस बात का ध्यान रखें कि आपने अपने शरीर में क्या रखा है. हम जो खाते-पीते हैं, वह हमारे शरीर की संक्रमणों को रोकने, लड़ने और ठीक होने की क्षमता को प्रभावित कर सकता है. हालांकि अभी तक कोई भी खाद्य पदार्थ या पूरक आहार कोविड-19 संक्रमण को रोक या ठीक नहीं कर सकता है, स्वस्थ आहार प्रतिरक्षा प्रणाली का समर्थन करने के लिए अहम है. अच्छा पोषण अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के विकास की संभावना को भी कम कर सकता है, जिसमें मोटापा, हृदय रोग, मधुमेह, कुछ प्रकार के कैंसर और कॉम्बैट कॉमरेडिडिटी शामिल हैं.

अंतरा सीनियर लिविंग, देहरादून में व्यंजन निर्माण के प्रमुख शेफ अरुण करारा, एक निजी कंपनी जो वरिष्ठ नागरिकों के लिए आवासीय स्थान बनाने और उन्हें देखभाल प्रदान करने की दिशा में काम करती है, ने इस तथ्य को समझने पर जोर दिया कि भोजन को अगर सही तरह से लिया जाए तो वह दवा है. शेफ अरुण करारा ने कहा-

यह एक प्रचलित धारणा है कि बुजुर्गों के लिए ‘स्वस्थ’ भोजन हल्का और उबाऊ होता है. हालांकि, ऐसा होना जरूरी नहीं है. स्वस्थ और पौष्टिक भोजन को स्वादिष्ट और आकर्षक बनाया जा सकता है. भोजन हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए जरूरी ऊर्जा के साथ-साथ मैक्रो और सूक्ष्म पोषक तत्वों का एक शक्तिशाली स्रोत है. अपने द्वारा खाए जाने वाले भोजन के बारे में खुद को जागरूक करना चाहिए. अपनी और अपने आसपास के लोगों की आहार संबंधी जरूरतों के बारे में भी सोचना अहम है. भोजन प्रोटीन, फाइबर और भरपूर मात्रा में फलों और सब्जियों से संतुलित होना चाहिए. ताज़ी जड़ी-बूटियों और मसालों से स्वाद बढ़ाया जा सकता है. और तले हुए भोजन से बचा जा सकता है. अंत में, अगर किसी को चबाने या निगलने में परेशानी होती है, तो नरम खाद्य पदार्थ, स्मूदी और सूप जो खाने और पीने में आसान होते हैं.

बीमारियों को दूर रखने के लिए सक्रिय जीवनशैली और सहीआहार का बेहद जरूरी है. प्रतिरक्षा बनाने के लिए व्यायाम करने की बहुत ज्यादा सिफारिश की जाती है. अपने शरीर को समझना और उन व्यायामों को चुनना अहम है जो आपके लिए मायने रखते हैं. वरिष्ठ नागरिकों को भी शारीरिक रूप से सक्रिय रहना चाहिए. वे ऐसे व्यायामों का विकल्प चुन सकते हैं जो शरीर पर कम ज़ोरदार हों जैसे कि योग, लंबी सैर, जबकि युवा व्यक्ति अधिक कठोर गतिविधियों के लिए जा सकते हैं.

आगे रहने के लिए प्रिवेंटिव हेल्थ चैकअप कराते रहें

यह सुनिश्चित करने के लिए प्रिवेंटिव हेल्थ चैकअप कराते रहना अहम है. ऐसे करने से कोई समस्या होने पर उसका निवारण किया जा सकता है. और अपनी प्रतिरक्षा को वापस लड़ने का एक मजबूत मौका दे सकते हैं. नियमित स्वास्थ्य जांच के माध्यम से, लोग, विशेष रूप से वरिष्ठ नागरिक और कॉमरेडिडिटी वाले लोग किसी भी आगामी बीमारी से आगे निकल सकते हैं और स्वस्थ और लंबे जीवन की तैयारी कर सकते हैं.

कोविड-19 के साथ, डॉक्टर आज टेलीकंसल्टेशन पर जोर देते हैं और गैर-कोविड-19 रोगियों को अस्पतालों में न जाने के की सलाह देते हैं. यह अहम है कि हम संक्रमित होने की संभावना को कम से कम करें और पहले से ही तनावपूर्ण स्वास्थ्य सेवा के बुनियादी ढांचे पर और दबाव डालने से बचें.

केयर एट होम सेवाएं संपूर्ण स्वास्थ्य सेवा पारिस्थितिकी तंत्र को किसी के घर के आराम में लाती हैं. एक्स-रे, पैथोलॉजी, ईसीजी, फिजियोथेरेपी और रेडियोलॉजी जैसे टेस्ट घर पर ही किए जा सकते हैं, जिससे बुजुर्गों के लिए स्वास्थ्य जांच अधिक सुलभ और सुविधाजनक हो जाती हैं. सही समय पर सही तरह की सेवाएं और उपचार आपको बीमारी के बारे में सही जानकारी दे सकते हैं और इससे बचाव के उपाय करने में आपकी मदद कर सकते हैं. नर्सिंग में सेवाओं की होम डिलीवरी, रोगियों की दूरस्थ निगरानी, ​​चिकित्सा उपकरण, पोस्ट-ऑपरेटिव देखभाल, और अन्य डाइग्नोस्ट‍िक, चिकित्सीय या रोग संबंधी सेवाएं सुविधा सुनिश्चित करती हैं और घर से बाहर निकलने की जरूरत को कम करती हैं. साथ ही बाहर न जाने से आप खुद को कोविड-19 संक्रमण के जोखिम से बचाते हैं.

(डॉ. शबनम मीर, सलाहकार चिकित्सक, और अंतरा में क्लि‍निकल सर्विसेज के प्रमुख द्वारा लिखित. अंतरा एक निजी कंपनी है जो वरिष्ठ नागरिकों के लिए आवासीय स्थान बनाने और उन्हें देखभाल प्रदान करने की दिशा में काम करती है.)

अस्वीकरण: इस लेख में व्यक्त विचार लेखक के निजी विचार हैं. लेख में प्रदर्शित तथ्य और राय एनडीटीवी के विचारों को नहीं दर्शाते हैं. एनडीटीवी इसके लिए कोई जिम्मेदारी या दायित्व नहीं लेता है.

इसे भी पढ़ें: COVID-19: सरकार ने दिए ओमि‍क्रोम वेरिएंट से जुड़े सवालों के जवाब

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Folk Music For A Swasth India

RajasthanDay” src=

Reckitt’s Commitment To A Better Future

Expert Blog

हिंदी में पड़े

More हिंदी में पड़े

Latest Posts