Connect with us

ताज़ातरीन ख़बरें

असमानताएं खत्‍म करें, एड्स खत्म करें, महामारी समाप्त करें, पीछे छूटे लोगों तक पहुंचने पर ध्यान दें

इस साल चूंकि COVID-19 महामारी दुनिया भर में बनी हुई है, एचआईवी रोगियों के लिए उपचार तक पहुंच पर इसका प्रभाव चिंता का कारण रहा है और इसलिए विश्व एड्स दिवस 2021 का विषय है – असमानताओं को समाप्त करना, एड्स और महामारी का अंत करें.

Read In English
असमानताएं खत्‍म करें, एड्स खत्म करें, महामारी समाप्त करें, पीछे छूटे लोगों तक पहुंचने पर ध्यान दें
World AIDS Day पहली बार 1 दिसंबर, 1988 को एचआईवी के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया गया था.

नई दिल्ली: HIV (ह्यूमन इम्युनोडेफिशिएंसी वायरस), एक ऐसा वायरस है जो मूल रूप से मानव शरीर में कोशिकाओं पर अटैक करता है, जो शरीर को इंफेक्‍शन से लड़ने में मदद करता है, जिससे व्यक्ति अन्य संक्रमणों और बीमारियों के प्रति अधिक संवेदनशील हो जाता है. सरल शब्दों में कहें तो यह एक ऐसी स्थिति है जो तब आती है जब इम्‍यून सिस्‍टम पूरी तरह से काम करना बंद कर देता है. वायरस मानव रक्त, यौन तरल पदार्थ और स्तन के दूध में रहता है और जब इसका ट्रीटमेंट नहीं किया जाता है, तो यह एड्स (एक्वायर्ड इम्यून डेफिसिएंसी सिंड्रोम) की ओर जाता है. यह एचआईवी वाले व्यक्ति के संपर्क में आने से फैलता है, आमतौर पर असुरक्षित यौन संबंध के दौरान, या इंजेक्शन दवा उपकरण साझा करने के जरिए.

इसे भी पढ़ें: विश्व एड्स दिवस 2021: क्यों ‘एचआईवी को हराना आसान नहीं है

मानव शरीर एचआईवी से छुटकारा नहीं पा सकता है और दुनिया भर में एचआईवी का कोई प्रभावी इलाज भी मौजूद नहीं है. इसलिए, एक बार आपको एचआईवी हो जाने के बाद, यह आपके साथ जीवन भर रहेगा.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, एचआईवी एक प्रमुख पब्लिक हेल्‍थ इशू बना हुआ है जो दुनिया भर में लाखों लोगों को प्रभावित करता है. डब्ल्यूएचओ का कहना है कि हालांकि हाल के दशकों में दुनिया ने महत्वपूर्ण प्रगति की है, लेकिन 2020 के लिए महत्वपूर्ण वैश्विक लक्ष्य पूरे नहीं किए जा सके. डब्ल्यूएचओ ने आगे कहा कि UNAIDS द्वारा निर्धारित नए प्रस्तावित वैश्विक 95-95-95 लक्ष्यों तक पहुंचने के लिए, दुनिया को उप-सहारा अफ्रीका में एचआईवी से संबंधित आधे मिलियन से अधिक मौतों की खराब स्थिति से बचने के लिए अपने प्रयासों को दोगुना करने की जरूरत है.

इसे भी पढ़ें: World AIDS Day: क्या है एंटीरेट्रोवायरल थेरेपी यानी ART?

लक्ष्य 2020 के अंत तक एचआईवी के साथ रहने वाले अधिकांश लोगों के लिए एचआईवी परीक्षण और उपचार लाने के उद्देश्य से निर्धारित किए गए थे और स्वस्थ रहने के लिए उनके शरीर में एचआईवी की मात्रा को कम करके पता लगाने योग्य स्तर तक कम करने और इसके आगे प्रसार को रोकने के लिए लक्ष्य निर्धारित किए गए थे. यूएनएड्स के अनुसार, उन लोगों की संख्या में वृद्धि हुई है जो अपनी स्थिति जानते हैं और इलाज करवा रहे हैं, यह इस तथ्य से परिलक्षित होता है कि एचआईवी के साथ रहने वाले सभी लोगों में वायरल लोड दमन के लेवल में 2015 और 2019 के बीच 18 प्रतिशत अंक की वृद्धि हुई है. आंकड़ों के अनुसार, 2019 में, वैश्विक स्तर पर एचआईवी वाले लगभग 59% लोगों ने वायरल लोड कम किया था. हालांकि, लक्ष्य यह था कि एचआईवी के साथ रहने वाले कम से कम 73% लोगों को वायरल लोड को कम करने की जरूरत है, इसलिए एड्स के लिए वैश्विक लक्ष्य अब तक पूरा नहीं हुआ है.

डब्ल्यूएचओ का कहना है कि दुनिया भर में, एचआईवी एक प्रमुख वैश्विक हेल्‍थ इशू बना हुआ है, जिसने 1988 से अब तक 36.3 मिलियन लोगों को मौत के मुंह में पहुंचाया है.

इसे भी पढ़ें: बीते 21 सालों से HIV के साथ जी रहीं होममेकर कैसे बनी एक्टिविस्ट

एचआईवी के बारे में जागरूकता बढ़ाने और बीमारी से प्रभावित लोगों को मनाने के उद्देश्य से, 1 दिसंबर को डब्ल्यूएचओ द्वारा एड्स या विश्व एड्स दिवस को समर्पित एक अंतरराष्ट्रीय दिवस के रूप में चिह्नित किया गया है. दिन के बारे में जानने के लिए कुछ महत्वपूर्ण बातें नीचे दी गई हैं:

World AIDS Day का इतिहास

विश्व एड्स दिवस पहली बार 1 दिसंबर, 1988 को मनाया गया था. इस दिन को पहली बार 1987 में एड्स पर वैश्विक कार्यक्रम के लिए दो सार्वजनिक सूचना अधिकारियों जेम्स डब्ल्यू. बन और थॉमस नेटर द्वारा प्रस्तावित किया गया था. अभियान के पहले दो वर्षों में, विश्व एड्स परिवारों पर एड्स के प्रभाव को उजागर करने के लिए बच्चों और युवाओं के विषय पर केंद्रित दिवस था. 1996 में, UNAIDS ने विश्व एड्स दिवस के संचालन को अपने हाथ में ले लिया और पहल के दायरे को एक साल के रोकथाम और शिक्षा अभियान तक बढ़ा दिया.

World AIDS Day 2021 की थीम

विश्व एड्स दिवस 2021 का विषय “असमानताओं को समाप्त करना”, एड्स और महामारी का अंत, पीछे छूटे लोगों तक पहुंचने पर विशेष ध्यान देने के साथ है. डब्ल्यूएचओ का कहना है कि इस साल का मुख्य एजेंडा दुनिया भर में आवश्यक एचआईवी सेवाओं तक पहुंच में बढ़ती असमानताओं को उजागर करना है. इसमें आगे कहा गया है कि विभाजन, असमानता और मानवाधिकारों की अवहेलना उन विफलताओं में से हैं जिन्होंने एचआईवी को वैश्विक स्वास्थ्य संकट बनने और बने रहने दिया. डब्ल्यूएचओ यह भी कहता है कि अब COVID-19 सेवाओं में असमानता और व्यवधान को बढ़ा रहा है, जिससे एचआईवी ग्र‍स्‍त कई लोगों का जीवन और अधिक चुनौतीपूर्ण हो गया है. इस वर्ष , वैश्विक नेताओं और नागरिकों से इन असमानताओं का सामना करने के लिए़ AIDS को रोकने और उन लोगों तक पहुंचने के लिए जो वर्तमान में आवश्यक HIV सेवाएं प्राप्त नहीं कर पा रहे हैं, WHO और AIDS संगठन रैली करने का आह्वान कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें: World AIDS Day 2021: मिथ्स जो सालों से सच समझे जा रहे हैं, यहां जानें पूरा सच

विश्व एड्स दिवस 2021 का इतना महत्व क्यों है?

UNAIDS के अनुसार, असमानताओं के खिलाफ साहसिक कार्रवाई के बिना, दुनिया 2030 तक एड्स को समाप्त करने के लक्ष्यों के साथ-साथ एक लंबे समय तक चलने वाली COVID-19 महामारी और एक सर्पिल सामाजिक और आर्थिक संकट को समाप्त करने का जोखिम उठा रही है. इसमें आगे कहा गया है कि चूंकि पहले एड्स के मामले सामने आए थे, एचआईवी अभी भी दुनिया के लिए खतरा है. इसमें आगे कहा गया है,

आज, दुनिया 2030 तक एड्स को समाप्त करने के लिए साझा प्रतिबद्धता को पूरा करने से दूर है, न कि एड्स को मात देने के लिए ज्ञान या उपकरणों की कमी के कारण, बल्कि संरचनात्मक असमानताओं के कारण जो एचआईवी की रोकथाम और उपचार के सिद्ध समाधानों में बाधा डालती हैं.

डब्ल्यूएचओ का कहना है कि 2020 के अंत में अनुमानित 37.7 मिलियन लोग एचआईवी से ग्रस्‍त हैं, जिनमें से दो तिहाई (25.4 मिलियन) अफ्रीकी क्षेत्र में हैं. 2020 में, 680, 000 मिलियन लोग एचआईवी से संबंधित कारणों से मारे गए और 1.5 मिलियन लोगों को एचआईवी हुआ.

इसे भी पढ़ें: राय: HIV से पीड़ित लोगों द्वारा अनुभव की जाने वाली मानसिक स्वास्थ्य चुनौतियां

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Highlights From The 12-Hour Telethon

Leaving No One Behind

Mental Health

Environment

Join Us